Top 30 + Republic Day Quotes Jai Hind - Bharat mata ki jai | Top 30 + 26 January Quotes Jai Hind - Bharat mata ki jai

Top 30 + Republic Day Quotes Jai Hind

26 January Quotes

मां तुझे सलाम

तू मस्तक पर विराजे यही मेरी पहचान,

हर जीवन तेरे आंचल में खिले,

तू है तो हम जिंदा है जवान।

तू ही मेरी आन और तू ही मेरी शान और तू ही मेरी पहचान।


ना जुबान से, ना निगाहों से

ना दिमाग से ना रंगों से

ना ग्रीटिंग से ना गिफ्ट से

आपको 26 जनवरी मुबारक डायरेक्ट दिल से।


आजादी की कभी शाम ना होने देंगे 

शहीदों की कुर्बानी बदनाम ना होने देंगे,

बची है एक बूंद जो लहु तक की तब तक भारत मां का आंचल नीलाम ना होने देंगे,

" गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं"


चलो आज फिर से वह नजारा याद कर लिया जाए,

शहीदों के दिल में थी जो ज्वाला वह याद कर लि जाए,

जिसमें बहकर आजादी पहुंची थी किनारे,

आज देशभक्तों के खून का बलिदान याद कर लिया जाए।


मिटकर भी वह हारे नहीं 

तब जाकर यह नाम हुए हैं 

याद उन्हें एक बार कर लो जो

वतन के लिए कुर्बान हुए हैं।



ना सरकार मेरी है ना रौब मेरा बड़ा सा , और ना ही नाम बड़ा है मुझे गर्व है मैं हिंदुस्तान का और हिंदुस्तान मेंरा है।


ना जियो धर्म के नाम पर

 ना मरो धर्म के नाम पर,

 इंसानियत ही है धर्म वतन का 

 बस जियों वतन के नाम पर।


अनेकता में एकता ही हमारी शान है इसीलिए हमारा हिंदुस्तान महान है। गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं।


यह गणतंत्र दिवस लाए आपके मोहल्ले शहरों में खुशियां और सिखाएं आपके बच्चों को कैसे हमारे सैनिकों ने हराया अंग्रेजों को और कैसे कराया हमारे भारत को आजाद।


दे सलामी इस तिरंगे को जिसमें तेरी शान है

सर हमेशा ऊंचा रखना जब तक दिल में जान है।


तेरा ना है तो समुंदर में तेरो नदी नालों में क्या रखा है

प्यार करना है तो वतन से करो बेवफाओं में क्या रखा है।


एक सैनिक का कहना सत्य हो गया। मैं तिरंगा फहराकर वापस आऊंगा या फिर तिरंगे में लिपटकर लेकिन मैं वापस जरूर आऊंगा।


इतनी सी बात हवाओं में बताए रखना

रोशनी होगी चिरागों को जलाए रखना

लहू देकर की हिफाजत जिसकी हमने

ऐसे तिरंगे को सदा

अपनी आंखों में बसाये रखना।

"वंदे मातरम "


महस एक किरदार हि क्यों

खुद में एक कहानी बनो

हिंदू-मुस्लिम तो ठीक

पहले एक हिंदुस्तानी बनो।


अलग है भाषा धर्म और जात भेष परिवेश,

पर हम सबका एक ही गौरव राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा।


नई उम्मीदें जगाना है अंधकार को चीरता हुआ सूरज जगाना है

कांटो से दूर नए फुल खिलना है 

साफ दिलो से भरा एक नया शहर बसाना है।


ज़माने भर में मिलते हैं आशिक कई लेकिन वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता नोटों में लिपट कर सोने से चिपक कर मरे हैं कई लोग मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता।


आज सलाम है उनको जिनके कारण यह दिन आता है

खुश नसीब होती है वह मान जिनके बच्चों का बलिदान इस देश के काम आता है।


गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं ❤️❤️

Post a Comment

0 Comments