Love Shayari Urdu | Love Shayari Urdu Images | Best Love Shayari Urdu

Love shayari urdu

1. Duniya aapk bare me 
kya sochti hai..
ye soch ke chinta na kre or 
Sochne de or 
shukr krain ke 
is daur me bhi log 
apne bare me sochne ki bjaye 
aapke bare me soch rhe hain

दुनिया आपके बारे में 
क्या सोचती है...  
ये सोच के चिंता न करें और 
सोचने दें और 
शुक्र करैं के 
इस दौर में भी लोग 
अपने बारे में सोचने की बजाए 
आपके बारे में सोच रहे हैं  

2. Mohabbat jhuti nahi tumse
gavah hai hr namaz ki dua 


Urdu shyaries

मोहब्बत झूठी नहीं तुमसे 
गवाह है हर नमाज़ की दुआ 

3. Chahte to nahi hm kisi ka dil dukhana
magar 
kya kren acche bn kr bhi hum hi 
"Gunhegar" bn jate hain

चाहते तो नहीं हम किसी का दिल दुखाना 
मगर 
क्या करें अच्छे बन कर भी हम ही 
"गुनहगार" बन जाते हैं

4. Tanha bhi hu or majboor bhi koi
aarzu bhi baki nahi
ab mout dede aye khuda ye
zindgi ek laash hai...

तनहा भी हु और मजबूर भी कोई 
आरज़ू भी बाकि नहीं 
अब मौत देदे ए खुदा ये ज़िंदगी एक लाश है... 

5. Main janta hu ke uske bina 
ji nahi paounga Hal uska bhi yahi hai
magar kisi or ke liye...

मैं जनता हु के उसके बिना 
जी नहीं पाऊँगा हाल उसका भी यही है 
मगर किसी और के लिए... 

6. Tum mil jao to nijaat mil jaye
Roz jeeny se, 
Roz marny se...

तुम मिल जाओ तो निजात मिल जाये 
रोज़ जीने से,
रोज़ मरने से... 

7. Ai mohabbat tere anjam pe rona aaya 
jaane kyu aaj tere naam pe rona aaya

ऐ मोहब्बत तेरे अंजाम पे रोना आया 
जाने क्यों आज तेरे नाम पे रोना आया 

8. Na Jane kis lie Umeed bhar Baitha Hun
ek aisi Rah pe jo tere rahguzar bhi nahi

न जाने किस लिए उम्मीद भर बैठा हूँ 
एक ऐसी राह पे जो तेरे रहगुज़र भी नहीं 

9. Kabhi Khud pe Kabhi halat pe rona aaya 
Jb bat nikli to hr ek bat pe rona aaya

कभी खुद पे कभी हालात पे रोना आया 
जब बात निकली तो हर बात पे रोना आया 

10. kisi ke tum ho kisi ka ḳhuda hai duniya me
mare nasib me tum bhi nahi ḳhuda bhi nahi

किसी के तुम हो किसी का खुदा है दुनिया  में,
मेरे  नसीब में तुम भी नहीं खुदा भी नहीं 

11. hm to kuch der has bhi lete hain 
dil to hamesha udaas rahta hai

Shayaries

हम तो कुछ देर हस लेते हैं 
दिल तो हमेशा उदास रहता है

12. Usne pucha tha ke kya hal hai 
or main sochta rah gya

उसने पूछा था के क्या हल है 
और मैं सोचता रह गया 

13. Hum to smjhe the ke hm bhul gye hain unko
Kya hua aaj ye kis bat pe rona aaya

हम तो समझे थे के हम भूल गए हैं उनको 
क्या हुआ आज ये किस बात पे रोना आया 

14. Ab tk khabr na thi ke mohabbat gunah hai
ab jan kr gunah kiye ja rha hu main 

अब तक खबर न थी के मोहब्बत गुनाह है 
अब जान कर गुनाह किये जा रहा हु मैं

15. Mujhsa koi jahan main nadan bhi na ho
karke jo ishq kahta hai nuksan bhi na ho

मुझसा कोई जहान में  नादान भी न हो 
करके जो इश्क़ कहता है नुकसान भी न हो 

Post a Comment

0 Comments