EK LADKE KE DIL MEIN KITNA DARD REHTA HAI POETRY IN HINDI | AMAZING POETRY | AARAV SINGH

EK LADKE KE DIL MEIN KITNA DARD REHTA HAI

EK LADKE KE DIL MEIN KITNA DARD REHTA HAI

Aapni paedayesh se hi jo
apne parivar ki aashao ka bojh dhota hai...
tum kya jano ek ladke ke dil me kitna drd hota hai

अपनी पैदाइश से ही जो 
अपने परिवार की आशाओ का बोझ ढोता है... 
तुम क्या जानो एक लड़के के दिल में कितना दर्द होता है 

Bachpan se hi sikhaya jata hai
ke tum ladke ho or ek ladka kabhi nahi rota hai 
lag bhi jaye kbhi chot to vo kisi se nahi kahta hai 
or jo bahaduri ka bhar rakha jata hai uske upr 
or jo bahaduri ka bhar rakha jata hai uske upr 
aapne aansuo ko uske piche chupa kr vo jindgi bhr jita hai..
tum kya jano ek ladke ke dil me kitna drd rahta hai.

बचपन से ही सिखाया जाता है 
के तुम लड़के हो और एक लड़का कभी नहीं रोता है
लग भी जाये कभी चोट तो वो किसी से नहीं कहता है 
और जो बहादुरी का भर रखा जाता है उसके ऊपर 
और जो बहादुरी का भर रखा जाता है उसके ऊपर 
आपने आंसुओ को उसके  पीछे छुपा कर वो जिंदगी  भर जीता है... 
तुम क्या जानो एक लड़के के दिल में कितना दर्द रहता है। 
Reality about boys poetry

Vo berojgari ki sharmindgi 
vo bahen ki shadi ka karj 
jise chaha tha sache dil se 
jb vo ladki uska sath chod kr dur chali jati hai 
khatm karle khud ki jindgi
ye iccha us ladke ke mn me bhi aati hai 
pr fir uski maa ka chahra uski aankho ke aage aane lagta hai 
mar jayegi teri maa ye soch kr uska dil jor se dhadkta hai 
or fir vo usi tute hue dil ke sath jindgi bhr jita hai
tum kya jano ek ladke ke dil me kitna drd rahta hai 

वो बेरोजगारी की शर्मिंदगी 
वो बहन की शादी का कर्ज 
जिसे चाहा था सच्चे दिल से 
जब वो लड़की उसका साथ छोड़ करे दूर चली जाती है 
ख़त्म करले खुद की जिंदगी 
ये इच्छा उस लड़के के मन में भी आती है 
पर फिर उसकी माँ का चेहरा उसकी आँखों के आगे आने लगता है 
मर जाएगी तेरी माँ ये सोच क्र उसका दिल जोर से धड़कता है 
और फिर वो उसी टूटे हुए दिल के साथ जिंदगी भर जीता है 
तुम क्या जानो एक लड़के के दिल में कितना दर्द रहता है 
Hard working man poetry

Zindgi kabhi khud ki nahi 
jiya bss oro ke lie 
kbhi maa bap kabhi Bivi kabhi baccho ke lie apne hr pl diye 
kabhi manga nahi badle me kuch bhi 
kabhi manga nahi badle me kuch bhi 
bina shart hi sab kuch sahta hai 
or tum kya jano ek ladke ke dil me kitna drd rahta hai 

जिंदगी कभी खुद की नहीं
जिए बस औरो के लिए 
कभी माँ बाप कभी बीवी कभी बच्चो के लिए अपने हर पल दिए 
कभी माँगा नहीं बदले में कुछ भी 
कभी माँगा नहीं बदले  कुछ  भी 
बिना शर्त ही सब कुछ सहता है 
 और तुम क्या जानो एक लड़के के दिल में कितना दर्द रहता है। 

Post a Comment

0 Comments