वस्तु में दक्षिण दिशा का महत्व

दक्षिण दिशा
यह दिशा मृत्यु के देवता की दिशा है। अगर आप चाहे तो यहां भारी सामान रख सकते हैं। इस दिशा में रसोईघर भी बनाया जा सकता है। इस दिशा में पानी का टैंक भी बनवा सकते हैं और ऊपर जाने के लिए सीढ़ियां भी बनवा सकते हैं। इस दिशा में कभी बच्चों का कमरा नहीं बनवाना चाहिए। इस दिशा में पढ़ाई का कमरा, बाथरूम और खिड़की नहीं बनवानी चाहिए। अगर किसी के घर मे इस स्थान पर बेडरूम है, तो सोते समय अपना सिर दक्षिण दिशा की ओर ही रखना चाहिए।

Post a Comment

0 Comments